Real life inspiration stories in hindi-सफलता की कोई उम्र नहीं होती।

Inspirational real life stories in hindi सफलता की कोई उम्र नहीं होती।

मै हूं अभी
www.themotivationhandbook.com से।


ये बताने की महान व्यक्तियों के किए गए महान कार्यो का संबंध उनके उम्र से नहीं था 

आप भी अपने कार्यो के द्वारा कभी भी महान बन सकते हैं।

विश्व के महान काम सिर्फ़ बड़े उम्र के लोगों ने नहीं किए,बल्कि छोटी उम्र के लोगों ने भी 

किए है।

जब आप इतिहास उठाके पढेंगे तो जानेंगे कि युवकों द्वारा किए गए कारनामों से पन्ने भरे 

पड़े है।


Albert einstein - आधुनिक विज्ञान के पिता कहे जाने वाले इनका नाम विग्यान के छेत्र में बड़े आदर से लिया जाता है उन्होने 26 साल की उम्र मे अपने बुद्धिमता का पहचान करवा दिया।


Inspire होने के लिए इसे जरूर पढ़े। 


महात्मा गांधी - बापू का ना्‍म सारा विश्व जानता है इनका नाम बहुत श्रद्धा और सम्मान से लेता है, इनका पूरा नाम मोहन दास करमचंद गांधी था, जब वे 24 साल के थे, तब इन्होने दक्षिण अफ्रीका में रंग भेद की नीति का विरोध करने के लिए सत्याग्रह किया था, बाद में भारत को आजाद दिलाने में भी इनका योगदान रहा।

बापू को मानवता का सबसे बड़ा पुजारी माना जाता है।



Walt Disney - जिनके नाम से इतना बड़ा Disney land बना उन्हे एक समाचार पत्र की कंपनी ने ये कहकर निकाल दिया था कि तुम्हें कुछ नहीं आता, और तुम कल्पना भी नहीं कर सकते, फिर भी उन्होने हिम्मत नहीं हारी कोशिश करते रहे पूरे आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़े और दुनिया पर छा गए।

ये स्टोरी आपके जीवन को बदल सकती है। 


सिकंदर - सिकंदर ने sirf 20 साल के उम्र मे ही राज गद्दी प्राप्त हो गयी, और 27 साल की उम्र मे उन्होने लगभग आधी जिन्दगी जीत ली थी। इसलिए ये दुनिया इस सिकंदर को महान साम्राज्य सिकंदर के नाम से जानती है।


Bless pascal - विश्व का सबसे बड़ा गणितग्‍य माना जाता है, क्यूंकि उन्होने 16 साल की उम्र में geometric पर पुस्तक लिखी जो बहुत ज्यादा प्रसिध्द हुई, जब ये 19 साल के हुए तब उन्होने संतुलन यंत्र (adding मशीन) का अविष्कार किया अब इसका उपयोग संगीत को संवारने मे किया जाता है।


James watt - James watt का नाम हर कोई जानता है रेल की पटरियां इन्ही की सिद्धांतों पर चलता है हर कोई नए नय आविष्कारों मे लगा हुआ है लेकिन जेम्स वाल्ट ने जब ये karnama किया उस समय इनकी उम्र सिर्फ 25 साल थी।


हार गए तो क्या हुआ.?


Alexander graham Bell - इनके द्वारा टेलीफोन का अविष्कार क्रांतिकारी अविष्कार माना जाता है लेकिन ये बहुत कम लोग जानते हैं कि उन्होने महज 20 साल की उम्र में टेलीफोन बनाने की कल्पना कर ली थी और 27 साल की उम्र मे टेलीफोन बना लिया था।


Thomas alva edison - विद्युत के अविष्कार में इनका योगदान सबसे महत्वपूर्ण है। उनके द्वारा बनाया गया बल्ब का उपयोग पूरी दुनिया में होता है, ये अविष्कार उन्होने मात्र 21 साल की उम्र मे कर लिया था। बाद मे उन्होने और कई तरह के आविष्कार किए जो किसी चमत्कार से कम नहीं है।



Sigmund freud - मानव के प्रतिदिन के व्यवहार का मनोवैगयानिक सिद्धांत फ्राइड सिद्धांत के नाम से जाना जाता है, इस सिद्धांत को Sigmund freud ने मात्र 29 साल की उम्र में लिखा था।



राइट ब्रदर्स - हवाई जहाज अब एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचता है, यातायात के छेत्र में हवाई जहाज का बहुत महत्वपूर्ण स्थान है। ये किसी चमत्कार से कम नहीं है, इसका पूरा श्रेय राइट ब्रदर्स को जाता है।



Rabindranath tagore - गीतांजलि जैसी अद्भुत पुस्तक लिखने वाले रवींद्र जी का नाम कौन नहीं जानता। इन्होंने मात्र 18 साल की उम्र में इसकी रचना की, इस तरह से भारत मे एक महान कवि का जन्म हुआ।

Tagore की इस रचना पर उन्हे ग्लोबल पुरस्कार भी मिला।

conclusion:-


दोस्तों इन लोगों की सफलता से पता चलता है कि चमत्कार करने की कोई उम्र नहीं होती। कोई भी किसी भी उम्र मे चमत्कार कर सकता है, और सफल हो सकता है।
जब तक लगाम ना कसी जाये, तबतक घोड़ा नहीं दौड़ता।
जबतक भाप ना बने, तबतक इंजन नहीं चलता।
जबतक अंधकार से ना चला जाए, तब तक प्रकाश का पता नहीं चलता।

ठीक वैसे ही कोई मनुष्य तबतक महान नहीं बन सकता, जब तक कि एकाग्रता और जुनून उसके अंदर ना हो।




मै हूं abhi और हमारे इस तरह की कहानियों से जुड़े रहने के लिए हमें फॉलो करे, धन्यवाद। 

Post a Comment

0 Comments