Motivational stories in hindi - जीने के लिए सबसे जरूरी चीज है उत्साह।

Motivational stories in hindi-जीने के

लिए सबसे जरूरी चीज है उत्साह।

Motivational stories in hindi - जीने के लिए सबसे जरूरी चीज है उत्साह।

जिन्दगी मे ख़ुशी या जीने का सुख माँगने से नहीं जागने से होता है।


मै आपके लिए motivational stories in

hindi पर लेकर आया हूं छोटी सी कहानी।

शीर्षक:जीने के लिए उत्साह जरूरी है।

Motivational stories in hindi - जीने के लिए सबसे जरूरी चीज है उत्साह।


एक बार एक राजा अपने सैनिको के साथ शिकार पर निकले और जब भी वो राजा शिकार पर जाता उसके साथ उसके कुछ विश्वसनीय मंत्री जाते थे और साथ मे जाता था एक हाथी, जिसका नाम था बाला।🐘


लोग ये भी कहते थे कि राजा साहब की जान उसमे बसती है।

जब शिकार पर वो निकले तो एक भी शिकार वो कर नहीं पाए, रात भी हो चुकी थी। उन्होने सोचा कि आज रात हम जंगल मे ही रुकते हैं और सुबह उठकर कोई ना कोई शिकार कर लेंगे।

ये कहानी आपके जीवन को बदल देगी।🕮

अब हर बार हाथी को इसलिए भी साथ ले जाया जाता था कि जो भी शिकार होगा उसे हाथी पर लाद कर वापस ले आएंगे।

अगले सुबह राजा के जो सैनिक थे वो हाथी को ले गए नहलाने, जंगल के बीच मे एक तालाब था। वो हाथी नहाते नहाते गलती से तालाब के बीच मे चला गया और फस गया।

अब इन सैनिकों ने जो है बहुत प्रयास किया लेकिन हाथी को निकालने मे आसमर्थ रहे।


इसे पढ़ना ना भूले।🕮

घबराए हुए सैनिक राजा के पास पहुँचे और बताया कि राजा साहब हमसे गलती हो गयी है,हम हाथी को नहलाने ले गए थे और वो नहाते नहाते तालाब के दलदल मे फस चुका है।

राजा ने पूछा कि क्या तुमने पूरी कोशिश कर ली?

तो सैनिको ने कहा कि हा महाराज हमने पूरी कोशिश कर ली, हाथी बाहर नहीं निकल पा रहा है,आप अब बताइए हमें क्या करना चाहिए?

एक काम करो जल्दी से तुम हमारे राज्य मे जाओ और जो हमारे राज्य के सबसे विद्वान मंत्री है उन्हे बुलाकर लाओ शायद वो हमारी परेशानी को दूर करे।

भगवान पर भरोशा रखो।🕮

सैनिक जल्दी से राज्य मे गए और मंत्री को लेके आ गए।

मंत्री ने सारी परेशानी को देखा और कहा कि राजा साहब अब आप मुझपर छोर दीजिए। हाथी बाहर निकलेगा और मै विश्वाश दिलाता हूँ कि हाथी एकदम सही सलामत निकलेगा।

राजा क्युकी मंत्री पर बहुत भरोसा करते थे उन्होने कहा कि ठीक है अब तुम संभालो।

मंत्री ने अपने सैनिकों से कहा कि जाओ नगाड़े लेकर के आओ और इस तालाब के चारो ओर ऐसी तैयारी कर दो की युद्ध का माहौल बन जाए।

सारे सैनिक गए और उस तालाब के चारो ओर नगाड़े बजवाने लगे, एकदम युद्ध का माहौल बनवा दिया, जोड़ जोड़ से नगाड़े बजने लगे।

जो हाथी बेसुध पड़ा था बेहोश पड़ा था वो अपने आप उठा और उस तालाब से खुद बाहर निकला।🐘


राजा को कुछ समझ नहीं आया कि दलदल मे फसा हाथी नगाड़ों की आवाज से कैसे निकल गया।

उसने मंत्री से पूछा कि ये हुआ कैसे?

मंत्री ने बताया कि आपका जो हाथी था वो शारीरिक रूप से बिल्कुल सही था कोई समस्या नहीं थी उसको बस उत्साह की जरूरत थी और उसको वो उत्साह उस नगाड़े से मिली।

उसे लगा कि युद्ध मे आपको उसकी जरूरत है और वो चला आया।

इस कहानी को पढ़ना ना भूले।🕮


निष्कर्ष :-


ये छोटी सी कहानी हमें बहुत बड़ी बात बताती है।

जिन्दगी मे जब आप उत्साहित रहते हैं तो आप अपने आप खुश रहने लगेंगे। हर दिन जब आप जागे तो ये सोचकर उठे की आपको नया दिन मिला है और आप उसदिन मे बहुत कुछ अच्छा कर सकते हैं।

अब आपको क्या करना है ये आप पर निर्भर करता है।

ये motivational story आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके बताए और इस कहानी को शेयर करे ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसे पढ़ सके।

धन्यवाद।

Post a Comment

0Comments