Hindi stories-कुएँ से निकला दूध।

Hindi stories 

Hindi stories-कुएँ से निकला दूध।
यदि आप एक Hindi stories की तलाश में हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पर है।इस कहानी को पूरा पढ़े।

मंजिले उन्ही को मिलती हैं,
जिनके सपनों में जान होती हैं,
सिर्फ पंखों से कुछ नही होता,
हौसलों से उड़ान होती हैं। 


Hindi stories का शीर्षक:- अपने सपनों को पूरा करने के लिए खुद प्रयत्न करो।

Hindi stories-कुएँ से निकला दूध।

आज की हमारी कहानी एक ऐसे गांव की जहाँ लगभग पीने के लिए भी पानी नहीं था क्यूंकि बहुत समय से वहां बरसात नहीं हुई थी।लोग वहाँ बहुत परेशान थे उन्हे समझ नहीं आ रहा था कि क्या करे।सभी लोगों ने बहुत उपाय सोचा लेकिन किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा था।

उसमे से एक बूढ़ा व्यक्ति था उसने सारे लोगों को इकट्ठा किया और बोला कि हमे भगवान से प्रार्थना करना चाहिए कि वे हमारे इस समस्या का समाधान निकाले।

किसान के खेत में फसल क्यूँ नहीं हुई।



उन सारे लोगों ने मिलकर भगवान से प्रार्थना की और थोड़ी देर बाद भगवान प्रकट हुए और उनलोगों से पूछा कि बताओ क्या समस्या है।सारे लोगों ने बताया कि इस गाँव में बहुत समय से पानी नहीं हुआ है हम लोगों के पास लगभग पीने के लिए भी पानी नहीं बचा है। कृपया करके हमारी मदद किजिये।

भगवान ने कहा बस इतनी सी बात रुको मैं तुम्हें एक उपाय बताता हूँ, भगवान ने कहा कि गाँव के बाहर जो एक कुआँ है उसमे आप लोग सभी रात मे जाकर एक एक लोटा दूध डाल दीजिए सुबह तक बरसात हो जाएगी।

सारे लोग खुश हो गए कि बस इतनी सी बात है, हमलोग आज रात को ही ये काम कर देते हैं।
सभी लोग एक एक लोटा दूध लेकर आधी रात को कुवें की तरफ जाने लगे, उसमें से एक आदमी था जिसने सोचा कि इतने लोग दूध डाल रहे हैं यदि मैं पानी भी डालूँ तो किसी को नहीं पता चलेगा।

उस व्यक्ति ने दूध की जगह पानी डाल दिया। अब सारे लोग घर जाकर सो गए, लेकिन सुबह सारे लोग उठे और देखा कि बरसात तो हुई ही नहीं, सभी लोग सोचने लगे कि क्या बात है।क्या भगवान ने हमलोगों से झूठ बोला।

सारे लोग इकट्ठा हुए और कुएं की तरफ जाने लगे, जब सारे लोगों ने कुएं मे देखा तो सभी लोग आश्चर्यचकित रह गए और एक दूसरे को देखने लगे क्यूंकि उस कुएँ मे दूध था ही नहीं।

उस कुएँ मे पूरा पानी था, सभी लोग बात समझ गए थे कि किसी भी व्यक्ति ने दूध नहीं डाला था।

सारे लोगों ने बस यही सोचा कि बाकी सब तो दूध डालेंगे ही मैं अगर पानी भी डाल दूँगा तो किसी को नहीं पता चलेगा, और इसी चक्कर मे सभी ने वहां पर पानी डाल दिया।

ये वक़्त भी कट जाएगा।



इस Hindi stories से सीख :-

  • दोस्तों हमारे साथ भी यही हो रहा है, हम सभी जिन्दगी में कुछ करना चाहते हैं, हम चाहते हैं कि हमारी जिन्दगी में कुछ हो लेकिन हम बदलना नहीं चाहते हैं, प्रयत्न नहीं करना चाहते हैं, हम चाहते हैं कि कोई दूसरा हमारे लिए कुछ करे।
  • यदि हमलोगों का ऐसा ही रवैय्या रहा तो हम कभी आगे नहीं बढ़ पाएंगे, कभी अपने सपनों को पूरा नहीं कर पाएँगे जिसे पाने के लिए हम इतनी मेहनत करते हैं।

यदि यह Hindi stories आपको पसंद आई तो हमें कमेंट करके बताए और ज्यादा से ज्यादा शेयर करे।

कर भला तो हो भला। 

tags:-Hindi stories,stories in Hindi,moral stories in Hindi

Post a Comment

0Comments