Hindi kahaniya-भगवान हमेशा हमारे साथ होते हैं।

Hindi kahaniya

Hindi kahaniya-भगवान हमेशा हमारे साथ होते हैं।
इस जिन्दगी को अच्छे से जीने की होड़ में हम कभी कभी जिन्दगी देने वाले पर ही शक़ कर लेते हैं।

हो सकता है आपने यह hindi kahani पहले ही सुनी हो लेकिन आप ये कहानी कहानी जितनी बार सुनिएगा आपका विश्वास ईश्वर के प्रति बढ़ता चला जाएगा।

यदि हम हज़ारों की दौलत भी गवां दें व हमारा जीवन बलिदान हो जाए तो हमें मुस्कुराते रहना चाहिए और ईश्वर व सत्य में विश्वास रखकर प्रसन्न रहना चाहिए।

Hindi kahaniya का शीर्षक-भगवान पर भरोसा रखो।

ये कहानी एक लड़की ऐसे लड़के की है जो एक बहुत बड़ा आदमी बनना चाहता था, वो बहुत मेहनती लड़का था जिसे ईश्वर पर बहुत भरोसा था।

उसे हमेशा लगता था उसके ईश्वर उसके साथ है,जब भी वह समुद्र के किनारे चलता तो उसे दो पैरों के निशान दिखाई देते। एक खुद के और दूसरे पैर भगवान के। उसे लगता था कि वह भगवान से बात करता था। 


Hindi kahaniya-भगवान हमेशा हमारे साथ होते हैं।

धीरे धीरे करके वह लड़का बहुत मेहनत करता चला गया और बहुत सफल हो गया। अपनी मेहनत और परिश्रम से वह उस छेत्र का सबसे अमीर आदमी बन गया।
लेकिन एक बात हमेशा याद रखिएगा जिस घड़ी मे 12 बजते है उसमे 6:30 भी बजेगा मतलब कि यदि काँटा ऊपर रहता है तो वह नीचे भी आएगा। मतलब कि अच्छे समय के बाद बुरा समय और बुरा समय के बाद अच्छा समय भी आता है।

अब हुआ ये कि उसका बुरा वक़्त आया।एक बार ऐसा हुआ कि उसके जीवन में बहुत बुरा वक़्त आ गया और वह जितना अमीर आदमी था वह उतना ही गरीब हो गया। उसकी कंपनी डूबने लगी और बंद होने के कगार पर पहुंच गई।

एक सुबह ऐसा हुआ कि जब यह समुद्र किनारे चल रहा था तो उसे दूसरे पैरों के निशान नहीं दिखे। वह घबरा गया और बहुत गुस्सा भी हुआ उसे लगा कि जब मेरा अच्छा वक़्त चल रहा था तो भगवान मेरे साथ थे लेकिन जब मेरा बुरा वक़्त आया तो भगवान ने भी मेरा साथ छोर दिया
क्यूंकि ये मेहनती बहुत था तो इसने मेहनत करना नहीं छोड़ा, इसे कामयाब होने के सारे रास्ते पता थे और इसने मेहनत करना नहीं छोड़ा और अपने मेहनत और कठिन परिश्रम से फिर से इसने अपने कंपनी को उसी जगह पर ले आया।

कुछ दिनों के बाद से फिर से इसने महसूस किया कि समुद्र के किनारे फिर से दो पैरों के निशान बनने लगे हैं।

लेकिन यह बहुत गुस्सा था इस वजह से इसने मुँह फेर लिया और भगवान से कहा कि मैं तुमसे बात नहीं करूँगा।

भगवान प्रकट हुए और पूछे कि क्यूँ क्या हुआ? तो उस लड़के ने कहा कि जब मेरा अच्छा समय चल रहा था तो आप मेरे साथ थे लेकिन जब बुरा वक़्त आया तो आपने मेरा साथ छोड़ दिया।

भगवान ने फिर पूछा कि तुम्हें कैसे पता?
तो उस लड़के ने कहा कि जब मेरा अच्छा वक़्त चल रहा था तो मुझे दो पैरों के निशान दिख रहे थे एक मेरे और एक आपके।



लेकिन जब मेरा बुरा वक़्त आया तो सिर्फ़ मेरे ही पैरों के निशान थे, आपने क्यूँ किया ऐसा?
Hindi kahaniya-भगवान हमेशा हमारे साथ होते हैं।

तो भगवान ने बोला कि नहीं जब तुम्हारा अच्छा वक़्त चल रहा था तो मैं तुम्हारे साथ चल रहा था लेकिन जब तुम्हारा खराब वक़्त चल रहा था तो भी मैं तुम्हारे साथ था।


जब तुम्हारा बुरा वक़्त चल रहा था तब तुम्हें जो पैरों के निशान दिख रहे थे वो तुम्हारे नहीं मेरे पैरों के निशान थे।

उस लड़के को आश्चर्य हुआ और उसने पूछा कि वो कैसे?

भगवान ने फिर बोला कि जब तुम्हारा बुरा वक़्त चल रहा था तो मैंने तुम्हें अपनी गोद मे उठाए हुआ था, तुम्हारे दोनों पैर ऊपर हो गए थे, जो निशान तुम्हें दिख रहे थे वो मेरे पैरों के थे।

आपकी जिन्दगी कभी भी बदल सकती है।

इस hindi kahaniya से सीख-

  • भगवान हमेशा हमारे साथ है चाहे वह बुरा वक़्त हो या अच्छा। भगवान हमेशा हमारे साथ है कभी भी हमारा साथ नहीं छोड़ते हमें बस कर्म करते जाना है फल की चिंता नहीं करनी।

यदि आपको यह hindi kahani पसंद आई हो तो हमे कमेंट करके बताए और इसी तरह की hindi kahani पढ़ने के लिए हमसे जुड़े रहे।


Tags-hindi kahaniya, hindi stories, stories in hindi, moral stories



Post a Comment

0Comments