Short moral stories for kids in Hindi-जादुई तोता।

Short moral stories for kids in Hindi

Short moral stories for kids in hindi-जादुई तोता।
  • यदि आप किसी moral stories for kids in Hindi की तलाश में हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पर आ गए हैं इस कहानी को पूरा पढ़े। 

*Short moral stories in Hindi का शीर्षक-जादुई तोता।*

एक गाँव मे एक बिरजू नाम का लड़का अपनी माँ के साथ रहता था। बिरजू की माँ गाँव में सब्जी का ठेला लगाती थी, जिससे उनके घर का खर्चा चलता था।
Short moral stories for kids in hindi-जादुई तोता।

एक दिन बिरजू की माँ की तबीयत बहुत ज्यादा खराब हो जाती है इसलिए बिरजू खुद ठेला लगाने गया था। स्कूल से घर जल्दी जाने के लिए वह पक्के रास्ते की जगह कच्चे रास्ते से जाता था।दुकान खोलने के लिए वह दौड़ना शुरू कर दिया।

तभी उसकी नजर एक खरगोश पर पड़ी जिसके पैर में चोट लगी थी जिसके वजह से वह दर्द से बहुत परेशान था। बिरजू जल्दी से उस खरगोश के पास जाता है और उसके पैर को पानी से धोके उसपर अपना रुमाल बांध दिया और वहाँ से आगे बढ़ गया।

Moral stories in Hindi - कर भला तो हो भला। 

वह जैसे ही खरगोश की मदद करके आगे बढ़ा तभी उसे पीछे से किसी की आवाज सुनाई देती है वह पीछे मुड़ा तो उसने देखा कि एक ऋषि मुनि थे जिन्होने बोला कि तुमने अपने काम के बारे में ना सोचते हुए मेरी मदद करने के लिए रूके ऐसा तो आजकल कोई अपनों के लिए भी नहीं करता,तुम्हारा बहुत बहुत धन्यवाद।

बिरजू डरता हुआ बोला कि बाबा आप यहाँ कैसे? यहाँ तो एक जख्मी खरगोश था। बाबा ने बोला कि बेटा वो खरगोश मैं ही हूँ। मैं रूप बदलकर जानवर के बीच गया था और जानना चाहता था कि उन्हे किसी तरह की दिक्कत तो नहीं है ना। लेकिन पैर मे काँटा चुभने की वजह से बहुत खून निकलने लगा। 

Best Hindi stories-जीने का नजरिया बदलिए।
मैं अपने रूप में आने ही वाला था कि किसी की आहट मैंने सुनी, मैंने देखा कि तुम आ रहे हो उधर से। तुमने मेरी मदद की। तुम्हारे इस व्यवहार से मैं बहुत खुश हुआ। बोलो तुम्हें क्या चाहिए? मैं तुम्हारी हर इच्छा पूरी करूंगा।

बिरजू ने बोला कि मेरी माँ की तबीयत बहुत खराब है, क्या आप उन्हें ठीक कर सकते हो? मुझे इसके अलावा कुछ नहीं चाहिए।

बाबा बिरजू की मदद से बहुत खुश हुए थे इसीलिए उन्होने अपनी आंखों को बंद करके कोई मंत्र पढ़ने लगे। अचानक ही एक तोता उनके हाथ से निकला।

बाबा ने बोला कि बिरजू तुम्हारी माँ की तबीयत बिल्कुल ठीक हो गयी है लेकिन मैं तुम्हें यह तोता भी उपहार देना चाहता हूँ। तुम ये तोता अपने साथ ले जाओ। यह एक जादुई तोता है जो सिर्फ़ मंगलवार को बोलता है और एक सवाल पूछता है और यदि तुमने सही जवाब दिया तो यह तुम्हारी हर इच्छा पूर्ण करेगा। लेकिन याद रखना यह सिर्फ तुम्हारी ही इच्छा पूरी पूर्ण करेगा।

बिरजू तोता लेकर अपने घर आ जाता है। मंगलवार के दिन तोता उससे एक सवाल पूछता है कि पूरी दुनिया में कौन है वो इंसान जो तुम्हारे बारे में तुमसे पहले सोचता है और कभी जताता भी नहीं है।

बिरजू ने बोला कि इसका जवाब है माँ। तोता ने बोला कि हां ये बिल्कुल सही जवाब है बोलो तुम्हें क्या चाहिए। इसके बाद बिरजू हर मंगलवार को तोता से इसी तरह सवाल पूछता और जवाब देता और अपनी हर इच्छा को पूरा करता।

Hindi story-ये वक़्त भी कट जाएगा। 
देखते ही देखते बिरजू की आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी हो जाती है जिसकी वजह से उसके चचेरे भाई सूरज को बहुत ईर्ष्या होने लगती है और इस वजह से वह छुप कर बिरजू पर नजर रखने लगता है।

एक दिन वह बिरजू को तोते से इच्छा मांगते हुए देख लेता है और वह सब समझ जाता है कि इसके पास पैसे कहाँ से आ रहे हैं और वह तोते को चोरी करने की सोच लेता है।

तोते को चूराने के लिए सूरज चुपके से आधी रात को बिरजू के घर पहुंचता है और उस जादुई तोते कि जगह एक साधारण तोता रख देता है।

वह तुरंत घर जाकर उसी रात को तोते से इच्छा माँगने लगता है लेकिन तोता उसकी बात पर कोई प्रतिक्रिया नहीं करता। ये सब देख कर सूरज हैरान रह जाता है। इसी तरह कुछ और दिन बीत जाते हैं और तोते के कुछ ना बोलने की वजह से सूरज बहुत परेशान हो जाता है।

क्यूंकि बिरजू का तोता सिर्फ़ मंगलवार को ही बोलता था इसीलिए उसे कुछ नहीं पता चला।

मंगलवार आते ही जादुई तोता सूरज से सवाल करता है कि क्या है जो बहुत प्यारा है और धन से भी न्यारा है। सूरज तोते को बोलता देख बहुत खुश होता है और उसके सवाल को नजरअंदाज करने लगता है और अपनी इच्छा माँगने लगता है और कहता है कि मुझे जल्दी से ढेर सारा स्वादिष्ट खाना दो

Moral stories for childrens in Hindi - हमारे दुश्मन ही हमारे दोस्त हैं।

सूरज के ये बोलते ही उसके घर का सारा खाना खत्म हो जाता है जिसके बाद तोता उससे फिर से एक सवाल पूछता है कि तुम कौन हो?

तोते के सवाल पर सूरज असमंजस में पड़ जाता है और वो दोबारा उसके सवाल का जवाब दिए बिना अपनी इच्छा माँगने लगता है और कहता है कि क्या सवाल पर सवाल किए जा रहा है पहले मेरी इच्छा तो पूरी कर और मुझे ढेर सारा धन दे।

सूरज के ये बोलते ही उसके घर का सारा धन ख़त्म हो जाता है। इसके बाद भी तोता अपना सवाल पूछना बंद नहीं करता है जिसकी वजह से तोता बहुत घबरा जाता है और तोते को लेकर भागता हुआ बिरजू के पास आता है जहां बिरजू नकली तोते कि वजह से परेशान बैठा हुआ होता है।

सूरज बिरजू से कहता है कि ये लो तुम्हारा तोता पता नहीं यह कहाँ कहाँ से सवाल पूछता रहता है जिसकी वजह से मेरे घर का सारा खाना और धन भी खत्म हो गया कृपया तुम इसे चुप करवा दो। 

Short moral stories for kids in hindi-जादुई तोता।
बिरजू अपने तोते को देखकर बहुत खुश हो जाता है। बिरजू अपने तोते के सवाल का जवाब देता है और अपनी इच्छा में सूरज के घर से गायब हुआ सारा धन और खाना वापस माँग लेता है जिसके बाद उसके पास ढेर सारा खाना और धन वापस आ जाता है

Moral stories in Hindi - किसान के खेत में फसल क्यूँ नहीं हुई। 
ये सब देखकर सूरज हैरान रह गया और बोला कि भाई जब मैं इससे इच्छा माँग रहा था तो सब कुछ उल्टा हो रहा था लेकिन अब तुम्हारी इच्छा कैसे पूरी हो गयी।

सूरज के पूछने पर बिरजू उसे सारी बात बता देता है। बिरजू का स्वभाव और अपनापन देख कर सूरज अपने किए पर बहुत पछतावा करता है और बिरजू से माफी माँग कर वहाँ से चला जाता है।


*इस short moral stories in Hindi for kids कहानी से सीख-*


  • हमें कभी भी किसी के लिए अपने मन में ईर्ष्या की भावना नहीं रखनी चाहिए, क्यूंकि ऐसी भावना हमें हमेशा अंधकार की ओर ले जाती है।
  • हमें हमेशा दूसरों की मदद करनी चाहिए, ताकि भगवान हमेशा हमारा साथ दे सके।

दोस्तों यदि यह short moral stories in Hindi for kids आपको अच्छी लगी है तो हमें कमेंट करके बताए।

Tags-short moral stories in Hindi for kids, moral stories in Hindi, short moral stories in Hindi.

Post a Comment

0Comments